36 हजार करोड़ के नान घोटाला मामले में एसआईटी की छापेमारी

0
85
छत्तीसगढ़:36 हजार करोड़ का नागरिक आपूर्ति निगम घोटाला में छापेमारी
File Picture

छत्तीसगढ़:36 हजार करोड़ का नागरिक आपूर्ति निगम घोटाला में छापेमारी. छत्तीसगढ़ के बहुचर्चित नागरिक आपूर्ति निगम घोटाला मामले में जांच के लिए शुक्रवार को एसपी कल्याण एलेसेला के नेतृत्व में आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो (ईओडब्लू) की टीम नान कार्यालय पहुंची। नान घोटाले में 16 लोगों को आरोपी बनाया गया है। एसआईटी बनने के बाद पहली बार ईओडब्लू की टीम नान कार्यालय पहुंची है। बता दे कि छत्तीसगढ़ में कथित रूप से 36 हजार करोड़ रुपए के नान घोटाले में नए सिरे से जांच के लिए भूपेश सरकार ने एसआईटी गठित की है। एसआईटी ने मामले में जांच भी शुरू कर दी है। दूसरी ओर, इस मामले में पीएमएलए (प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट) के तहत ईडी ने जांच शुरू कर दी है।

दरअसल नान घोटाले में आरोप है कि छत्तीसगढ़ में राइस मिलरों से लाखों क्विंटल घटिया चावल लिया गया और इसके बदले करोड़ों रुपए की रिश्वतखोरी की गई। इसी तरह नागरिक आपूर्ति निगम के ट्रांसपोर्टेशन में भी भारी घोटाला किया गया। इस मामले में 27 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था, जिनमें से 16 के खिलाफ 15 जून 2015 को अभियोग पत्र पेश किया गया था। मामले में दो वरिष्ठ आईएएस अधिकारी डॉ। आलोक शुक्ला और अनिल टूटेजा के खिलाफ कार्रवाई की अनुमति के लिए केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखी गई है। गौरतलब है कि एसआईटी बनने के बाद पहली बार ईओडब्लू की टीम नान कार्यालय पहुंची है।