राहुल गांधी पार्टी नेताओ के गलत बयानबाजी को लेकर सख्त

0
102
राहुल गांधी पार्टी नेताओ के गलत बयानबाजी को लेकर सख्त
राहुल गांधी पार्टी नेताओ के गलत बयानबाजी को लेकर सख्त

रविवार को दिल्ली में कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में राहुल गाँधी ने पार्टी नेताओं को संबोधित किया. राहुल गांधी ने कहा कि वह एक ऐसी रणनीति बनाएंगे जिसके तहत वह हर एक वोटर तक अपनी पहुंच बनाएंगे. पार्टी नेताओ की गलत बयानबाजी पर सख्त रुख अपनाते हुए राहुल गाँधी ने कहा ”मैं बड़ी लड़ाई लड़ रहा हूं. हर किसी को पार्टी फोरम में अपनी बात रखने का हक, लेकिन कोई भी गलत बयानबाजी हमारी लड़ाई को कमजोर करती है, ऐसे लोगों के खिलाफ मैं कार्रवाई करने में संकोच नहीं करूंगा.’

माना जा रहा है कि राहुल थरूर के हिंदू तालिबान और हिंदू पाकिस्तान वाले बयान से नाराज है. बता दें कि केरल से सांसद शशि थरूर हाल ही में हिंदू पाकिस्तान और हिंदू तालिबान वाले बयान लेकर को विवादों में आ गए थे. थरूर ने पहले उन्होंने मोदी सरकार के 2019 में जीतने पर भारत के हिंदू पाकिस्तान बनने की बात कही तो उसके बाद उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा था कि बीजेपी हिंदुत्व का तालिबानीकरण करना चाहती है. बीजेपी लगातार इन बयानों के लिए थरूर, कांग्रेस और राहुल गांधी को घेर रही थी.

राहुल गाँधी ने कहा कि कहा कि पार्टी को मतदाता स्तर पर पहुंचाना एक बड़ी जिम्मेदारी है. हमें उन लोगों की पहचान करनी है जो हमें वोट नहीं देते हैं. हमें इस तरह की रणनीति तैयार करनी है जिससे हम हर मतदाता तक पहुंच कर उनका विश्वास हासिल कर सकें. यह वर्किंग कमेटी हर भारतीय की आवाज बनेगी और उन्हें अपनी बात रखने का मंच देगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस एक प्रगतिशील विचारधारा की पार्टी है. सभी को साथ लेकर चलने की विचारधारा की पार्टी है.

राहुल गांधी ने कहा कि सीडब्ल्यूसी में युवाओं और अनुभवी नेताओं के बीच संतुलन बनाने की कोशिश की है. सीडब्ल्यूसी गठन का मकसद पार्टी में समावेशी विचारधारा को शामिल करके पार्टी को गतिशील बनाना है. हम सबके हैं और सभी के लिए संघर्ष करते हैं. हम इसी विचारधारा को पूरे देश में फैलाएंगे. सीडब्ल्यूसी ने हर एक भारतीय को आवाज दी है. इसने विभिन्न विचारधारों को समायोजित किया है और भारत की सबसे कमजोर आवाजों को स्थान दिया. हमारी सामूहिक चुनौती है कि हम अपने मौजूदा सीडब्ल्यूसी को उस स्तर पर आकार दें.