भ्रष्टाचार के एक और मामले में नवाज शरीफ को 7 साल की सजा

0
117
भ्रष्टाचार के मामले में नवाज शरीफ को 7 साल सजा
File Picture

पूर्व पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को भ्रष्टाचार के मामले में 7 साल की सजा हुई है. भ्रष्टाचार रोधी अदालत ने उन्हें एक मामले में बरी किया गया तो वहीं अन्य मामले में 7 साल की जेल की सजा सुनाई. बता दें कि उनको यह सजा अल अजीजिया स्टील मिल मामले में हुई है. जबकि फ्लैगशिप इन्वेस्टमेंट मामले में सबूतों की कमी के कारण उन्हें बरी कर दिया गया है. अदालत ने ये फैसला पूर्व पीएम नवाज़ शरीफ की मौजूदगी में सुनाया. इस मामले में न्यायाधीश मोहम्मद अरशद मलिक ने 68 वर्षीय शरीफ के खिलाफ सुनवाई पूरी कर लेने के बाद पिछले हफ्ते फैसला सुरक्षित रखा था.

नैब की अदालत ने फैसला सुनाते हुए कहा, ‘ अभियुक्त के खिलाफ फ्लैगशिप इनवेस्टमेंट मामले में कोई केस नहीं बनता है, जबकि अल अजीजिया स्टील मिल केस में दोष सिद्ध होता है.’ अदालत ने अगस्त 2017 में शरीफ पर आय से अधिक संपत्ति रखने का आरोप तय किया था. उच्चतम न्यायालय ने शरीफ के खिलाफ चल रहे भ्रष्टाचार के शेष दो मामलों के निपटारे के लिए सोमवार की अंतिम तारीख तय की थी. संभावना जताई जा रही थी कि दोषी साबित होने पर शरीफ को 14 साल तक की कैद हो सकती है. शरीफ फैसले से एक दिन पहले रविवार को लाहौर से इस्लामाबाद पहुंचे थे.