उत्तर भारतीय फेरीवालों से पीटने के बाद MNS के गुंडे हॉस्पिटल में भर्ती

96
325
उत्तर भारतीय फेरीवालों से पीटने के बाद MNS के गुंडे हॉस्पिटल में भर्ती
mns-workers-beatan-by uttarbhartiya feriwale-case-registred-against-seven-hawker sanjay nirupam ni24news

उत्तर भारतीयों को शिकार बनाने वाले एमएनएस कार्यकर्ता खुद ही उत्तर भारतीयों का शिकार हो गए. दरअसल कल MNS के गुंडे एक बार फिर से मलाड स्टेशन पर फेरीवालों के बीच उन्हें पिछली बार की तरह मार मार कर भागने पहुंचे, लेकिन यहा तो पासा उल्टा पड़ गया. फेरीवालों ने एमएनएस कार्यकर्ताओं की बीच बजार पिटाई कर दी. मारपीट के दौरान MNS का एक कार्यकर्ता सुशांत मालवदे बुरी तरह घायल हो गया. मंस के गुंडों को पिटता देख मुंबई पुलिस का ईमान जाग गया और पिटाई के मामले में 7 हॉकर्स के खिलाफ आईपीसी की धारा 307 यानी हत्या की कोशिश का मामला दर्ज किया गया है. यह वही मुंबई पुलिस है जिसके सामने एमएनएस कार्यकर्तायो ने कइयों बार सड़क पर गरीब फेरीवालों को दौड़ा दौड़ा कर पीटा और उनका सामान फेक देने पर भी मुंबई पुलिस मूक दर्शक बानी रहती थी.

एमएनएस के नेता इस घटना के लिए संजय निरुपम के बयान को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. दरसअल संजय निरुपम कल दोपहर करीब एक बजे अपने पूरे दल-बल के साथ मुंबई में फेरीवालों से मिलने पहुंचे और एक सभा को सम्बोधित किया. संजय निरुपम ने सभा में एमएनएस और बीजेपी को ललकारते हुए फेरीवालों से कहा कि खुद को बचाने के लिए कानून हाथ में लेना पड़े तो लो लेकिन गुंड़ों से मार मत खाओ. संजय निरुपम के सभा ख़त्म होने के बाद एमएनएस कार्यकर्ता एक बार फिर से गरीब फेरीवालों का सामान बर्बाद करने और उनकी पिटाई करने मलाड स्टेशन पहुंचे. लेकिन इस बार हमेशा मार खाने वाले फेरीवालों ने ही एमएनएस कार्यकर्तायो की जमकर धुलाई कर दी जिसके बाद उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती करना पड़ा. एमएनएस कार्यकर्तायो कि पिटाई से बौखलाया एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे घायल एमएनएस कार्यकर्तायो से मिलने हॉस्पिटल पंहुचा है.

 

Comments are closed.