चुनाव आयोग ने मंत्रालय को कहा- राजनीतिक भेदभाव रोके दूरदर्शन

0
26
चुनाव आयोग ने मंत्रालय को कहा- राजनीतिक भेदभाव रोके दूरदर्शन
File picture

चुनाव आयोग ने चुनावी कवरेज को लेकर सरकारी चैनल दूरदर्शन पर सख्ती बरती है. आयोग की तरफ से सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से कहा गया है कि वह दूरदर्शन को आदेश देकर राजनीतिक दलों की कवरेज में भेदभाव करने से मना करें. चुनाव आयोग ने दलील दी है कि उनकी निगरानी समिति ने रिपोर्ट दी है कि पिछले एक महीने में सरकारी प्रसारक यानी मीडिया माध्यम दूरदर्शन के न्यूज और क्षेत्रीय चैनलों ने बीजेपी की कवरेज 160 घंटे दिखाई जबकि कांग्रेस को सिर्फ आधे समय यानी 80 घंटे से ही संतोष करना पड़ा. निर्वाचन आयोग के आला अधिकारियों के मुताबिक चुनाव संहिता कहती है कि सबको बराबर मौका मिलना चाहिए.

दरअसल कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों ने आरोप लगाया था कि दूरदर्शन ने भाजपा के ‘मैं भी चौकीदार’ कार्यक्रम को लाइव दिखाया था. इसके तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की 500 जगहों पर लोगों को संबोधित किया था. इसे दूरदर्शन ने करीब 85 मिनट तक लाइव दिखाया था, जिसपर कई विपक्षी दलों ने आपत्ति जताई थी. और आयोग में शिकायत की थी. इसी के बाद चुनाव आयोग ने दूरदर्शन ने जवाब भी मांगा था. दूरदर्शन ने अपने जवाब में ‘मैं भी चौकीदार’ इवेंट को सरकारी कार्यक्रम बताया था. इस कार्यक्रम के अलावा भी चुनाव आयोग की नज़र अन्य राजनीतिक कार्यक्रम और प्रसारणों पर भी है.