गर्भनिरोधक गोलियों का सेहत पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव: रिपोर्ट

0
38
गर्भनिरोधक गोलियों का सेहत पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव
File picture

अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए टीवी पर दवाईयों के कई विज्ञापन आप रोजाना देखते होंगे। इन विज्ञापनों में सेहत की सुरक्षा के साथ कई बड़े-बड़े दावे किए जाते हैं। पर क्या ये वादे वाकई सच्चे होते हैं, या इन दवाईयों का सेहत पर कोई साइड इफेक्ट भी होता है, ऐसे ही कुछ सवाल विज्ञापन देखते समय आपके मन को भी परेशान जरूर करते होंगे। ऐसे में एक अध्ययन में इन गर्भनिरोधक गोलियों की सेहत से जुड़ी असल हकीकत के बारे में कई बाते सामने है। स्टडी में कहा गया है कि लंबे समय तक इन गोलियों का सेवन करने वाली महिलाएं भावनाशून्य हो सकती हैं। जिसका सीधा नकारात्मक प्रभाव उनके निजी संबधों पर पड़ सकता है। कई रिपोर्ट्स के मुताबिक जो महिलाएं गर्भनिरोधक गोलियां का सेवन करती हैं, उन्हें मतली या जी मिचलाना की समस्या आम होती है।

दरअसल अनचाहे गर्भ से बचने के लिए गर्भनिरोधक गोलियां सबसे आसान उपाय होता है। लेकिन जो महिलाएं इसका सेवन लंबे समय तक करती रहती हैं, उन्हें सेहत से जुड़ी कई शारीरिक और मानसिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। हाल ही में हुई एक स्टडी में ऐसा ही कुछ बताया गया है। गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करने से महिलाओं को सिर दर्द और माइग्रेन की शिकायत हो सकती है। अगर आपको भी ये गोलियां खाकर माइग्रेन की समस्या होती है, तो एक बार इस दवाई की डोज कम करके देखें, क्या पता आपको दर्द में आराम मिल जाए। याद रखें, दवाई की डोज अपने डॉक्टर के परामर्श के बाद ही कम या बंद करें, अपने मन से दवाई की डोज कम-ज्यादा करने से आप परेशानी में फंस सकते हैं।