सतना हत्याकांड: पिता ने की सीबीआई जांच की मांग, 4 पुलिसकर्मी निलंबित

0
69
सतना हत्याकांड पिता ब्रजेश रावत ने की सीबीआईजांच की मांग

सतना जिले के तेल करोबारी के जुड़वा बच्चों प्रियांश व श्रेयांश के अपहरण के बाद हत्या के मामला में एमपी पुलिस के 4 कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। इन चारों पुलिसकर्मियों पर अपने कर्तव्य में लापरवाही बरतने का आरोप है। पीड़ित पिता ब्रजेश रावत को पुलिस की जांच पर भरोसा नहीं है। पिता और कारोबारी ब्रजेश रावत ने प्रेस कांफ्रेंस कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से न्याय की गुहार लगाई है। दो बच्चों की इतनी निर्मम हत्या से आहत पिता का कहना है कि घटना का अभी तक पूर्ण खुलासा नहीं हुआ है। आरोपियों के खिलाफ अभी तक कार्रवाई नहीं हुई है। घटना में एक राजनीतिक दल के कई बड़े लोगों का हाथ है।

मृत बच्चो के पिता ब्रजेश रावत ने मांग की है कि इस मामले की उच्चस्तरीय जांच कराकर छुपे लोगों के चेहरे सामने लाए जाएं। उन्होंने मामले की सीबीआई जांच की मांग की। मीडिया के सामने फूट-फूट कर रोते हुए आरोपियों को एमपी पुलिस का संरक्षण मिलने का आरोप लगाते हुए न्याय की गुहार लगाई। विदित हो कि 12 फरवरी को स्कूल बस से घर लौटते समय दोनों बच्चों का अपहरण कर लिया। 14 फरवरी को दो करोड़ की फिरौती मांगी गई। 20 को फिरौती की मांग दोहराई गई। 20 लाख रुपए पिता ने देने की बात कही। पैसे लेने के बाद भी दोनों बच्चों की हत्या कर दी गई। यूपी के चित्रकूट से दोनों के शव बरामद हुए।

बता दे कि प्रियांश व श्रेयांश जुड़वा भाइयों की अपहरण और हत्या मामले में कल पुलिस ने बड़ा खुलासा किया था। पुलिस का दावा है कि आरोपियों ने भारतीय जनता पार्टी के झंडे वाली बोलेरो जीप का इस्तेमाल किया मुख्य आरोपी बजरंग दल के सदस्य बताए जा रहे हैं। आईजी चंचल शेखर ने बताया कि इस अपहरण कांड का मास्टर माइंड पद्म शुक्ला और विष्णु शुक्ला है। विष्णु शुक्ला बजरंग दल का क्षेत्रीय संयोजक है। इस अपहरण के लिए भाजपा के झंडे वाली बुलेरों का उपयोग किया गया, वहीं एक मोटरसाइकिल ऐसी भी उपयोग में लाई गई, जिसके पीछे नंबर पट्टिका पर ‘रामराज्य’ लिखा हुआ है।