मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर हाथ खड़े किये कहा, ”कीमतें काबू करना हमारे हाथ में नहीं ”

0
36
पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर रविशंकर प्रसाद का बयान
File Picture

पेट्रोल और डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों लगातार रिकॉर्ड तोड़ रही है. पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों के विरोध में कांग्रेस ने आज भारत बंद का आह्वान किया. पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर विपक्ष मोदी सरकार के खिलाफ हमलावर है. तो वही दूसरी तरफ केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों पर हाथ खड़े कर लिए है. केंद्र सरकार ने कहा है कि कीमतें काबू करना हमारे हाथ में नहीं है. यह एक ऐसी समस्या है जिसका निराकरण हमारे हाथों में नहीं है. केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि हमारे समय में तेल की कीमत में कुछ बढ़ोतरी हुई है. साथ ही उन्होंने विपक्षी दलों के भारत बंद को असफल बताया.

पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती कीमतों पर विपक्षी दलों के हमलावर रुख के बीच बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा, ”पेट्रोल के दाम कम होने चाहिए और हम इसका रास्ता निकालेंगे. पेट्रोल-डीजल की कीमत का बढ़ना हमारे हाथों से बाहर है. ओपेक देशों ने उत्पादन को सीमित कर दिया है. वेनेजुएला में अस्थिरता है, अमेरिका में अभी शेल गैस का उत्पादन शुरू नहीं हुआ है, ईरान पर अमेरिका ने प्रतिबंध लगाए हैं. इसलिए दुनिया में इसकी जो खपत है उसके लिए उत्पादन का अभाव है. हम कोई बचाव नहीं कर रहे हैं. हम जनता के साथ खड़े हैं. हमारे समय में पेट्रोल की कीमत घटी भी है और बढ़ी भी है. ये ऐसी समस्या है जिसका इलाज हमारे पास नहीं है.”

बिहार में हुई छिटपुट हिंसा पर बीजेपी के नेता ने कहा कि लोकतंत्र में सभी को विरोध करने का अधिकार है और हम उसका स्वागत करते हैं लेकिन क्या लोकतंत्र में राजनीति हिंसा के माध्यम से की जाएगी? रविशंकर प्रसाद ने दावा किया, ”भारत बंद के नाम पर पेट्रोल पम्पों में आग लगाईं जा रही है बसों और गाड़ियों को तोड़ा जा रहा है, कांग्रेस पार्टी जवाब दे कि देश में हो रही इन हिंसाओं का जिम्मेदार कौन है.” आपको बता दे कि बीते कई दिनों से पेट्रोल और डीजल के रेट में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है. जिसके चलते पेट्रोल-डीजल के दाम अब तक के रिकॉर्ड स्तर तक पहुंच गए हैं, जिसे लेकर विपक्ष लगातार सरकार के खिलाफ आवाज उठा रहा है.