गोमती रिवर फ्रंट घोटाला: यूपी समेत 4 राज्यों में प्रवर्तन निदेशालय की छापेमारी

0
98
गोमतीरिवर फ्रंट घोटाला:यूपी समेत 4 राज्यों में प्रवर्तन निदेशालयकी छापेमारी
File Picture

प्रवर्तन निदेशालय की टीमें यूपी समेत चार राज्यों में गोमती रिवर फ्रंट घाेटाला मामले में छापेमारी कर रही हैं. जानकारी के अनुसार, देश के चार राज्यों यूपी, हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली में ये छापेमारी चल रही है. इसमें सिंचाई विभाग के पूर्व अधिकारियों और गैमन इंडिया कंपनी के अधिकारियों के 8 ठिकानों पर छापा पड़ा है. ईडी को उन अकूत संपत्तियों की तलाश है, जो मामले में आरोपी इंजीनियरों ने जुटाई है. बताया जा रहा है कि लखनऊ में जहां ईडी की टीमों ने गोमती नगर के विशालखंड के मकान नंबर 3/332 में और राजाजीपुरम इलाके में छापेमारी शुरू की है.

खबरों में बताया जा रहा है कि इस दौरान इंजीनियरों और ठेकेदारों के घर को खंगाला जा रहा है. उधर राजस्थान के भिवाड़ी में ईडी की छापेमारी जारी है. यही नहीं हरियाणा के गुरुग्राम, नोएडा के सेक्टर-62 स्थित आईथम टॉवर में छापेमारी की गयी है. दरअसल योगी सरकार के सत्ता में आने के फौरन बाद पूर्व की सपा सरकार के महात्वाकांक्षी प्रोजैक्ट गोमती रिवर फ्रंट में घोटाले का आरोप लगा और जांच के आदेश दिए गए. जांच रिपोर्ट में कई खामियां उजागर हुईं. इसके बाद रिपोर्ट के आधार पर योगी सरकार ने सीबीआई जांच के लिए केंद्र को पत्र भेज दिया.

बताया जा रहा है कि ईडी को आशंका है कि गोमती रिवर फ्रंट निर्माण से जुड़े इंजीनियरों ने करोड़ों की अवैध चल-अचल संपत्ति अर्जित की है. जिसके बाद अब इन आरोपी इंजीनियरों के खिलाफ मनीलांड्रिग एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर, इनकी एक-एक सम्पत्तियों की जांच शुरू कर दी गई है. बता दे कि आरोप लगा कि दरअसल, 1513 करोड़ की परियोजना में 1437 करोड़ रूपया खर्च होने के बावजूद भी काम 65 फीसदी ही पूरा किया गया. यही नहीं परियोजना की 95 फीसदी रकम निकाल ली गई. मामले में योगी सरकार ने मई 2017 में रिटायर्ड जज अलोक कुमार सिंह की अध्यक्षता में न्यायिक आयोग से जांच कराई.