गुजरात में यूपी-बिहार के लोगों के खिलाफ हिंसा पर राजनीति

0
63
गुजरात में यूपी-बिहार के लोगों के खिलाफ हिंसा पर राजनीति
File Picture

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने यूपी-बिहार के लोगों के पलायन को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर राहुल गांधी वास्तव में गुजरात में हिंसा के खिलाफ हैं तो अपने उन पार्टी सदस्यों पर कार्रवाई करें जिन्होंने हिंसा भड़काई है. इस घटना पर गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने कहा कि वे गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हो रहे हमले की निंदा करते हैं. हार्दिक पटेल ने ट्वीट किया, ”गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हो रहे हमले की में निंदा करता हूँ. अपराधी को कठोर सजा मिले,इसके लिए पूरा देश उस पीड़ित परिवार के साथ खड़ा हैं. लेकिन एक अपराधी के कारण हम पूरे प्रदेश को ग़लत नहीं ठहरा सकते, आज गुजरात में 48 IAS एवं 32 IPS उ॰प्र और बिहार से हैं. हम सब एक हैं. जय हिंद.”

हार्दिक पटेल ने अपने एक दूसरे ट्वीट में हार्दिक पटेल ने कहा, ”गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हो रहे हमले में देश के प्रधानमंत्री कब बोलेंगे, नरेन्द्रभाई मोदी ने कहा था की बिहार और उत्तरप्रदेश से तो मेरा पुराना रिश्ता है. गुजरात की सभी श्रम फैक्ट्री में उत्तर भारतीय लोग काम करते हैं. आज सभी फैक्ट्री बंद हैं. उत्तर भारत का महत्व कितना है आज समझ आया.” इसके अलावा अपने एक और ट्वीट में हार्दिक पटेल ने कहा, ”गुजरात में भारत के दूसरे राज्यों के कामगारों के ख़िलाफ़ नफ़रत जैसी कोई बात नहीं रही हैं. यह पहली बार ऐसा हुआ हैं.गुजरात के लिए हिन्दी कोई ग़ैरों की भाषा नहीं हैं. यहां घर-घर में हिन्दी न्यूज चैनल देखा जाता हैं. लोग शौक से हिन्दी बोलते हैं।भारत के सभी प्रदेश के लोग हमारे परिवार हैं.”

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी कल इस मामले पर ट्वीट कर कहा, ”ग़रीबी से बड़ी कोई दहशत नहीं है. गुजरात में हो रहे हिंसा की जड़ वहां के बंद पड़े कारख़ाने और बेरोजगारी है. व्यवस्था और अर्थव्यवस्था दोनों चरमरा रही है. प्रवासी श्रमिकों को इसका निशाना बनाना पूर्णत ग़लत है. मैं पूरी तरह से इसके खिलाफ खड़ा रहूंगा.” राहुल गांधी के इस बयान के बाद विजय रुपाणी ने एक के बाद एक कई ट्वीट्स किये. उन्होंने कहा, ”अगर राहुल गांधी वास्तव में गुजरात में हिंसा के खिलाफ हैं तो अपने उन पार्टी सदस्यों पर कार्रवाई करें जिन्होंने हिंसा भड़काई है. हल ट्वीट करने में नहीं कार्रवाई करने में है. पर, क्या वह ऐसा करेंगे?” उन्होंने कहा, ”कांग्रेस पहले हिंसा भड़काती है और फिर कांग्रेस अध्यक्ष हिंसा के खिलाफ टिप्पणी करते हैं. कांग्रेस अध्यक्ष को कोई शर्म नहीं है क्या?”