यूपी के कासगंज हिंसा के 49 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, इलाके में धारा 144 लागू

3
46
कासगंज हिंसा के 49 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार
Police arrested 49 accused of Kasganj violence in UP ni24news

एक तरफ जहा पूरा देश गणतंत्र दिवस की खुशिया माना रहा था तो वही देश का एक ऐसा जगह भी था जहा दो गुटों के बीच हुई झड़प की आग ने पूरे शहर को अपने चपेट में ले लिया. उत्तर प्रदेश के कासगंज जिले में तिरंगा यात्रा को लेकर दो समुदाय आपस में भीड़ गए थे. पुलिस ने पूरे कासगंज में कल से ही एहतियातन कर्फ्यू लगा रखा है. हिंसा में 16 वर्षीय चंदन गुप्ता के मौत की खबर सामने आयी है. पोस्टमार्टम के बाद चंदन गुप्ता के शव को तिरंगे में लपेटकर उसके घर लाय़ा गया और अब स्थानीय लोग चंदन गुप्ता को शहीद का दर्जा देने की मांग कर रहे हैं.

यूपी के एडीजी आनंद कुमार के मुताबिक पुलिस ने हिंसा के लिए अब तक 49 लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार होने वालो में 39 लोगों लॉ एंड ऑर्डर बिगाड़ने के आरोप में और 10 लोगों को हत्या और दंगा भड़काने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. हालत पर नज़र बनाये रखने के लिए प्रशासन के आला अधिकारी मौके पर मौजूद हैं. सूत्रों के मुताबिक हिंसा में मरे गए चन्दन गुप्ता के दाह संस्कार के बाद कुछ उपद्रवी लोगो ने एक बस और एक झोपडी की कोशिश की लेकिन पुलिस की मुस्तैदी की वजह से वो ऐसा करने में नाकाम रहे.

कासगंज हिंसा अब राजनितिक रूप भी लेता जा रहा है. हादसे पर कई राजनितिक पार्टियों ने सियासत करनी शुरू कर दी है. जहा एक तरफ पुलिस मामले को शांत करने की कोशिश में जुटी है तो वही दूसरे तरफ एटा-कासगंज से बीजेपी सांसद राजवीर सिंह का एक वीडियो सामने आया है, जिसमे वो भड़काऊ भाषण देते नजर आ रहे हैं. संसद ने बेहद ही संवेदनहीनता दिखते हुए बेहद संवेदनशील माहौल में हिंसा भड़काने वाला बयान देते दिखे. वही दूसरी तरफ उनकी इस हरकत पर भाजपा ने चुप्पी साधी हुई है. उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने हिंसा पर बयान देते हुए कहा कि गणतंत्र दिवस के मौके पर ऐसी घटना दुखद व दुर्भाग्यपूर्ण है और दोषियों पर कार्रवाई होनी चाहिए.

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here