#MeToo के लपेटे में ‘संस्कारी’ बाबूजी, लगा रेप का आरोप

0
217
#MeToo के लपेटे में आलोक नाथ लगा रेप का आरोप
File Picture

नाना पाटेकर, कैलाश खेर और विकास बहल पर लगे यौन शोषण और हिंसा के आरोपों के बाद अब राइटर और फिल्ममेकर विंटा नंदा ने आलोक नाथ के खिलाफ यौन शोषण का आरोप लगाया है. विंता की फेसबुक पोस्ट के मुताबिक वह आलोक नाथ की पत्नी की सहेली थीं. इसी का फायदा उठाकर आलोक नाथ ने उनका शोषण किया. विंता ने लिखा है, ‘उन्होंने मेरे साथ शारीरिक दुर्व्यवहार किया, जब मैं साल 1994 के मशहूर शो ‘तारा’ के लिए काम कर रही थी.’ विंटा ने एक लंबी-चौड़ी फेसबुक पोस्ट के जरिए पूरे मामले को खुलकर पब्लिक में सामने रखा है. विंटा ने ना सिर्फ अपनी बात लिखी बल्कि उस शो के दौरान शो की लीड एक्ट्रेस नवनीत निशान के साथ हुई घटना का भी जिक्र किया. वही इस मामले पर आलोकनाथ की सफाई भी सामने आ चुकी है.

विंटा के मुताबिक एक सीन के दौरान आलोक पहले तो सेट पर शराब पीकर आए और उसके बाद शॉट के दौरान नवनीत पर गिर पड़े, जिसके बाद नवनीत ने उन्हें थप्पड़ मारा. वैसे तो विंटा ने इस फेसबुक पोस्ट में आलोकनाथ का नाम सीधे-सीधे नहीं लिखा है, लेकिन उनके इसारे साफ कह रहे की निशाना कौन है. लंबी चौड़ी फेसबुक पोस्ट में विंटा ने लिखा, “उनकी पत्नी मेरी अच्छी दोस्त थीं. हमारा एक दूसरे के घर में आना-जाना था, हमारे दोस्त भी एक ही थे, ज्यादातर थिएटर से. मैं उन दिनों टीवी के नंबर वन शो ‘तारा’ को लिख रही थी और इसका प्रोडक्शन कर रही थी. वह मेरी लीड गर्ल के पीछे थे. लड़की की उनमें कोई दिलचस्पी नहीं थी.”

फेसबुक पोस्ट में विंता ने आरोप लगाए हैं कि इस अभिनेता ने उनके साथ एक नहीं बल्कि दो-दो बार बलात्कार किया. वे लिखती हैं कि ‘इस व्यक्ति के घर पर एक पार्टी में बुलाया गया था. रात के दो बजे सारे लोग अपने-अपने घर जा चुके थे. अब उन्हें भी घर जाना था, सो अकेले ही पैदल अपने घर की तरफ चल पड़ीं. बीच रास्ते में इस आदमी ने मुझे रोका, वह अपनी कार में था. उसने मुझसे कार मैं बैठने को कहा. मैंने उस पर भरोसा किया और मैं बैठ गई. इसके बाद मुझे धुंधला-धुंधला सा बस यह याद है कि शराब मेरे मुंह में उड़ेली जा रही थी और मेरे साथ बलात्कार किया जा रहा था. अगले दिन दोपहर को जब मैं सोकर उठी तो मुझे दर्द था. मेरे साथ सिर्फ बलात्कार ही नहीं हुआ था, बल्कि मुझे मेरे घर ले जाया गया और वहां मेरे साथ बर्बरता भी की गई.’

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक विनंता नंदा द्वारा लगाये गये रेप के आरोपों पर आलोकनाथ ने अपनी पहली प्रतिक्रिया देते हुए कहा – “उन्हीं (विनता) से पूछिए आप, मुझसे क्यों पूछ रहे हैं? जो औरत ने कह दिया, वही ब्रह्म वाक्य है न? वही तो सत्य है! ऐसे में मेरा पक्ष जानकर क्या करोगे? आपको जो लिखना है, लिखिए. वैसे भी मैं जो कहूंगा, उसपर कौन यकीन करने वाला है? इस मामले में मैं जो कुछ भी कहूंगा, लोग सुनेंगे नहीं. मैं जो भी कुछ कहूंगा, उसके कोई मायने नहीं हैं. इससे कोई फायदा नहीं होगा. सब लोग उसपर (विनता) पर ही यकीन करेंगे. उन्होंने‌ जो कुछ कहा है, ये उनकी (ओछी) मानसिकता को दर्शाता है. मुझ पर इल्जाम तो लग गया है, मगर वक्त के साथ सबकुछ साफ हो जाएगा.”