योगी सरकार ने शिवपाल यादव को दिया मायावती का खाली बंगला

0
161
योगी सरकार ने शिवपाल यादव दिया मायावती का खाली बंगला
File Picture

समाजवादी पार्टी से अलग हुए और समाजवादी सेकुलर मोर्चा का गठन करने वाले शिवपाल यादव पर योगी सरकार मेहरबान नज़र आ रही है. राज्य संपत्ति विभाग ने शिवपाल यादव को वह बांग्ला आवंटित किया है जो कभी बसपा अध्यक्ष और यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती का आफिस हुआ करता था. शिवपाल पर प्रशासन की इस मेहरबानी से कई कयास लगाए जाने लगे हैं. राज्य संपत्ति विभाग के इस फैसले को सियासी नजरिए से देखा जाने लगा है. शिवपाल को एलबीएस-6 सरकारी बंगला दिया गया है.हालांकि शिवपाल को ये बंगला बतौर विधायक दिया गया है. बंगले का आवंटन होने के बाद शिवपाल तत्काल बंगले में गए और वहां का निरीक्षण किया.

दरअसल सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद मायावती इस बंगले को छोड़कर इसी बंगले से सटे दूसरे बंगले में शिफ्ट हो गई हैं. अब मायावती के पुराने आफिस वाले बंगले को शिवपाल के नाम पर आवंटित कर दिया गया है. बताया जा रहा है कि अब इस बंगले में शिवपाल अपनी पार्टी का आफिस बना सकते हैं. गौरतलब है कि मायावती जब तक इस बंगले में रहीं यह बंगला एक रहस्य ही रहा. बीएसपी के बड़े नेताओं को भी घर के अंदर जाने की इजाज़त नहीं थी. मीडिया की पहुंच भी अंदर वाले दरवाज़े की सीढ़ियों तक ही रहती थी. सतीश चंद्र मिश्र जैसे नेता भी जूते चप्पल खोल कर ही अंदर जाते थे. बंगले को खली करते वक़्त मायावती ने भीतर से बंगले को दिखाया भी था.

माना जा रहा है कि शिवपाल के नए मोर्चा गठन के पीछे बीजेपी का हाथ बताया जा रहा था. पिछले दिनों यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने शिवपाल को अपनी पार्टी को बीजेपी में विलय करने की सलाह दी थी. शिवपाल पर सरकार की मेहरबानी के पीछ माना जा रहा है कि अखिलेश के खिलाफ शिवपाल को आगे बढ़ाकर बीजेपी यूपी में 2019 की सियासी जंग फतह करना चाहती है. सपा के महासचिव रामगोपाल यादव भी इशारों-इशारों में शिवपाल पर बीजेपी के हाथों में खेलने का आरोप लगा चुके हैं. समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव भी पहले कह चुके है कि चाचा की मुलाकात बीजेपी के बड़े नेता से हो चुकी है.