ममता बनर्जी पर धर्म के आधार पर गड़बड़ी पैदा करने के 5 मामले दर्ज

0
27
ममता बनर्जी धर्म आधार गड़बड़ी पैदा करने 5 मामले दर्ज
File Picture

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एनआरसी मामले को लेकर खूनखराबे और गृहयुद्ध जैसी हिंसक बयानबाजी करते लगातार देखीं जा रही है. यही कारन है कि ममता बनर्जी के खिलाफ कुल पांच प्राथमिकियां दर्ज की जा चुकी हैं. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि धर्म के आधार पर कथित तौर पर गड़बड़ी पैदा करने के लिए ये प्राथमिकियां दर्ज की गईं. पुलिस उपायुक्त (मध्य) रंजन भुइयां ने कहा कि कछार में धारा 144 का उल्लंघन करने के लिए प्राथमिकी दर्ज की गई. बनर्जी के खिलाफ दो अगस्त को असम के पानबाजार, बशिष्ठ और उत्तर लखीमपुर में भी मामले दर्ज किए गए थे. पुलिस उपायुक्त (मध्य) रंजन भुइयां ने कहा कि गुवाहाटी और सिलचर में कथित तौर पर धर्म के आधार पर गड़बड़ी पैदा करने के लिए दो प्राथमिकियां दर्ज की गईं. असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के खिलाफ भी कल पश्चिम बंगाल में दो पुलिस शिकायत दर्ज कराई गई.

असम पब्लिक वर्क्स के ध्रुव ज्योति तालुकदार की शिकायत के आधार पर कल रात गीतानगर थाने में एक प्राथमिकी दर्ज की गई और दूसरी प्राथमिकी कछार के उधारबंद थाने में एक महिला पुलिसकर्मी ने दर्ज कराई जो सिलचर हवाई अड्डे पर टीएमसी सदस्यों के साथ कथित तौर पर हुए धक्का-मुक्की के दौरान जख्मी हो गई थी. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि बनर्जी और तृणमूल की आठ सदस्यीय टीम के खिलाफ आईपीसी की धारा 120 (बी) के तहत आपराधिक षड्यंत्र रचने, धारा 153 ए (धर्म, जाति, जन्म स्थान, आवास, भाषा के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता बढ़ाने), धारा 298 (किसी व्यक्ति की धार्मिक भावना को आहत करने के इरादे से शब्दों का प्रयोग) की धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है.

गौरतलब है किअसम में जारी हुआ एनआरसी का डाटा को लेकर देश में राजनितिक माहौल गरमाया हुआ है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने असम राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) का विरोध करते हुए केंद्र सरकार को धमकी दी कि अगर आगे भी इस तरह की कोशिश जारी रही तो देश में गृहयुद्ध छिड़ सकता है. खूनखराबा मच सकता है. ममता बनर्जी ने कहा कि भाजपा उनकी आवाज नहीं दबा सकती है और उन्हें उसकी नीतियों के खिलाफ बोलने से नहीं रोक सकती है. ममता के इस गैरजिम्मेदराना और हिंसक बयान के जवाब में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि ममता बनर्जी कहती हैं कि देश में गृह युद्ध हो सकता है. वह स्पष्ट करें कि किस प्रकार का गृह युद्ध होगा. इस मुद्दे पर वह देश की जनता के सामने अपना रुख स्पष्ट करें.