कठुआ गैंगरेप पर बैंककर्मी का शर्मनाक बयान ”उसे अभी मार देना अच्छा था क्योंकि कल को वह भारत के खिलाफ मानव बम बन सकती थी.”

0
192
कठुआ गैंगरेप पर बैंककर्मी का शर्मनाक बयान
कठुआ गैंगरेप पर बैंककर्मी का शर्मनाक बयान

कठुआ गैंगरेप पर बैंककर्मी का शर्मनाक बयान. कठुआ गैंगरेप मामले में असंवेदशीलता की हदें पार करने वाला एक विवादित बयान बयान सामने आया है. कोटक महिंद्रा बैंक के एक कर्मचारी विष्णु नंदाकुमार ने कठुआ में हुए 8 साल की मासूम से गैंगरेप और उसकी हत्या को जायज ठहराया है. नंदाकुमार ने आठ वर्षीय गैंगरेप पीड़िता की हत्या को कथित तौर पर सही बताते हुए सोशल मीडिया पर लिखा था ”उसे अभी मार देना अच्छा था क्योंकि कल को वह भारत के खिलाफ मानव बम बन सकती थी.” बैंक के कर्मचारी द्वारा लिखा गया यह संवेदनहीन बयान जब बैंक के संज्ञान में आया तब बैंक ने तुरंत कर्मचारी को नौकरी से निकाल दिया. जिसकी जानकारी बैंक ने अपने सोशल मीडिया के अकाउंट के जरिये देते हुए लिखा “हमने खराब प्रदर्शन को लेकर नंदुकुमार को 11 अप्रैल को नौकरी से निकाल दिया है. इस तरह की त्रासद घटना के बारे में किसी के भी द्वारा चाहे वह बैंक का कर्मचारी ही क्यों न हो, ऐसी टिप्पणी करते देखना बेहद दुखद है.”