राष्ट्रीय सम्मान के साथ हुई करुणानिधि की अंतिम विदाई

0
26
राष्ट्रीय सम्मान के साथ हुई करुणानिधि की अंतिम विदाई
राष्ट्रीय सम्मान के साथ हुई करुणानिधि की अंतिम विदाई

तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री एम करुणानिधि के पार्थिव शरीर का चेन्नई के मरीना बीच पर राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. करुणानिधि को उनके गुरु रहे अन्ना दुरै के बगल में दफना दिया गया है. बुधवार को करुणानिधि की अंतिम यात्रा में काफी संख्या में लोग शामिल रहे. डीएमके प्रमुख एम करुणानिधि को दफनाए जाने को लेकर विवाद पर मद्रास हाईकोर्ट का फैसला डीएमके समर्थको के पक्ष में आने के बाद रीना बीच पर सुरक्षा बढ़ा दी गई. वहांं करुणानिधि को दफनाए जाने की तैयारियां की गयी. करुणानिधि को दफनाने के लिए यहां क्रेन के जरिये एक बड़ा गड्ढा खोदा गया है.

आपको बता दे कि बीते 28 जुलाई को तबियत बिगड़ने के बाद चेन्नई के कावेरी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. मंगलवार की शाम 6 बजकर 10 मिनट पर करुणानिधि का निधन हो गया. द्रमुक प्रमुख और तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि के निधन पर राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री सहित तमाम नेताओं ने शोक जताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी. करुणानिधि के निधन से तमिलनाडु समेत पूरे देश में शोक की लहर है. डीएमके समर्थक सड़कों पर रोते और बिलखते नजर आए. राज्य में एक दिन का अवकाश और सात दिन का शोक घोषित किया गया है.

तमिलनाडु सरकार ने विपक्षी द्रमुक को उसके दिवंगत नेता पूर्व मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि को दफनाने के लिए मरीना बीच पर जगह देने से इनकार कर दिया और उसे इसके लिए पूर्व मुख्यमंत्री सी राजगोपालचारी और के कामराज के स्मारकों के समीप जगह देने की पेशकश की थी. सरकार के इस फैसले के खिलाफ मामला मद्रास हाईकोर्ट तक पहुंच गया था, जिस पर आज सुबह 8 बजे सुनवाई हुई थी. डीएमके की याचिका पर मद्रास हाईकोर्ट ने याचिका पर सुनवाई के बाद फैसले में कहा कि करुणानिधि को मरीना बीच पर ही दफनाया जाये. जिसके बाद उनको मरीना बीच में दफना दिया गया है.