कादर खान, मनोज वाजपेयी समेत कई हस्तियों को मिला पद्मश्री सम्मान

0
51
कादर खान समेत कई हस्तियों को मिला पद्मश्री पुरस्कार
File picture

कादर खान, मनोज वाजपेयी और प्रभुदेवा समेत कई हस्तियों को आज पद्मश्री पुरस्कार से नवाजा गया है। कादर खान को कला के क्षेत्र में योगदान के लिए मरोणपरांत पद्मश्री से सम्मानित किया गया। बता दें कि 1 जनवरी 2019 को कादर खान का लंबी बीमारी के बाद कनाडा में निधन हो गया था। म्यूजिक कंपोजर और सिंगर शंकर महादेवन को भी पद्मश्री सम्मान से सम्मानित किया गया। सम्मान मिलने पर शंकर महादेवन का कहना था, “मैं वास्तव में बहुत सम्मानित महसूस कर रहा हूं कि मुझे भारत सरकार द्वारा यह उपाधि दी जा रही है। यह देश का चौथा सबसे बड़ा नागरिक सम्मान है। मुझे नहीं पता कि क्या मैं इस काबिल हूं लेकिन हां मैं निश्चित रूप से खुश हूं।”

बॉलीवुड एक्टर मनोज वाजपेयी को कला के क्षेत्र में योगदान के लिए पद्मश्री से नवाजा गया। मनोज वाजपेयी की गिनती बॉलीवुड के सबसे टैलेंटेड एक्टर्स में होती है। मनोज वाजपेयी को फिल्म सत्या से पहचान मिली थी। कई फिल्मों और टीवी शो में अपने अलग-अलग किरदारों से दर्शकों के दिल में बस चुके दिनयार कॉन्ट्रैक्टर को आर्ट और एक्टिंग में अपने योगदान के लिए सम्मानित किया गया। म्स शिवमणि के नाम से मशहूर आनंद शिवमणि को आर्ट एंड म्यूजिक में अपने योगदान के लिए पद्मश्री सम्मान से नवाजा गया। डांसर, कोरियोग्राफर, एक्टर और डायरेक्टर प्रभुदेवा को आर्ट और डांस में सराहनीय काम के लिए सम्मानित किया गया।

मिलेना साल्विनी फ्रांस की रहने वाली हैं। वह साल 1965 में अपने पति के साथ केरल आई थीं। वह कथकली से इतनी प्रभावित थीं कि अपनी जिंदगी की कई साल इस कला को दिए। मिलेना को आर्ट और डांस में उनके बड़े योगदान के लिए पद्मश्री से सम्मानित किया जा रहा है। अनूप रंजन पांडेय ने बस्तर क्षेत्र की सांस्कृतिक विविधता और समृद्धि को बचाने, सरंक्षित करने और दुनिया के सामने पेश करने के लिए ‘बस्तर बैंड’ बनाया है जिसमें उन्होंने बस्तर क्षेत्र की विविध जनजाति समुदाय के कलाकारों और कला को एकत्र किया है। अनूप के इसी कार्य के सम्मान के तौर पर उन्हें पद्मश्री से नवाजा जा रहा है।

अनूप रंजन पांडेय ने बस्तर क्षेत्र की सांस्कृतिक विविधता और समृद्धि को बचाने, सरंक्षित करने और दुनिया के सामने पेश करने के लिए ‘बस्तर बैंड’ बनाया है जिसमें उन्होंने बस्तर क्षेत्र की विविध जनजाति समुदाय के कलाकारों और कला को एकत्र किया है। अनूप के इसी कार्य के सम्मान के तौर पर उन्हें पद्मश्री से नवाजा जा रहा है। वामन केंद्रे जाने-माने थिएटर डायरेक्टर और अकैडेमीशियन रहे। वह नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा के डायरेक्टर हैं। उन्हें आर्ट और एक्टिंग थिएटर में अपने योगदान के लिए सम्मानित किया गया। बंगाल के प्रमुख तबला वादक स्वपन चौधरी को पद्मश्री पुरस्कार से नवाजा गया।