बच्चा चोर समझकर भीड़ ने 2 महिलाओ को किया निर्वस्त्र, 4 महिलाओ की पिटाई

0
84
जलपाईगुड़ी:बच्चा चोर समझकर भीड़ 2 महिलाओ किया निर्वस्त्र,4 की पिटाई
बच्चा चोर समझकर भीड़ ने 2 महिलाओ को किया निर्वस्त्र

पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी जिले में भीड़ ने चार महिलाओं की पिटाई कर दी और चार महिलाओं में से दो को निर्वस्त्र कर दिया. बताया जा रहा है कि भीड़ ने महिलाओ को बच्चा चोर होने के शक में ऐसा किया. पुलिस ने बताया कि, भीड़ ने बच्चा चोर होने के शक में धूपगुड़ी ब्लॉक के दवकिमारी गांव में चार महिलाओं पर हमला कर दिया.पुलिस के मुताबिक, पीड़ित महिलाएं स्थानीय नहीं थी. उनकी उम्र 20 साल से 50 साल की है. पुलिस ने महिलाओं को बचाया और उन्हें निकटवर्ती प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया जहां उनकी हालत स्थिर है. बताया जा रहा है कि धूपगुड़ी ब्लॉक में पहले भी भीड़ कानून को हाथ में ले चुकी है. कुछ दिनों पहले बच्चा चोरी के संदेह में एक मानसिक रूप से परेशान महिला के साथ मारपीट की गई थी.

जलपाईगुड़ी के पुलिस अधीक्षक अमिताभ मैती ने कहा, ”लोगों ने संदेह होने पर जब एक महिला से पूछा तो उन्होंने कहा कि वह अपने परिजनों की तलाश के लिए आई है. दूसरी महिला ने कहा कि वह रिश्तेदार के यहां जा रही थी. तीसरी महिला ने कहा कि वह घर-घर जाकर कपड़ा बेचती है. वहीं चौथी महिला ने कहा कि वह एक बैंक में काम करती है.” बताया जा रहा है कि पहले भीड़ ने महिलाओ को घेर लिया उसके बाद उनके साथ मारपीट की और दो महिलाओ को तो निर्वस्त्र तक कर डाला.

स्थानीय पुलिस अधिकारी ने कहा कि बच्चा चोरी की अफवाह रोकने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं. गौरतलब है कि भीड़ के कानून को हाथ में लेने को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सख्त रुख अपनाया है और केंद्र तथा राज्य सरकारों को ऐसे मामलो से निपटने के लिए दिशानिर्देश भी दिए है. सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा था कि लोकतंत्र को भीड़तंत्र में बदलने की इजाजत नहीं दी जा सकती है. लेकिन केंद्र और राज्य सरकारों की लापरवाही के कारण ऐसे घटनाओ पर रोकथाम लगने की जगह उन्हें बढ़ावा मिल रहा है. ऐसी गंभीर मुद्दे को लेकर को लेकर सरकारे सिर्फ राजनीति करती और एक दूसरे पर कीचड़ उछलती नज़र आ रही है.