भारतीय मुक्केबाज विजेंद्र ने चीनी मुक्केबाज को हराया

1
25
India boxer Vijender singh defeats chinese fighter appeals for peace ni24news
India boxer Vijender singh defeats chinese fighter appeals for peace ni24news

भारतीय मुक्केबाज विजेंद्र ने चीनी मुक्केबाज को हराया . डब्ल्यूबीओ एशिया पैसिफिक सुपर मिडिलवेट खिताब के लिए शनिवार को हुए प्रतिस्पर्धा में भारत के स्टार मुक्केबाज विजेंद्र सिंह चीनी प्रतिद्वंद्वी जुल्फिकार मैमेतिअली को हराकर ख़िताब अपने नाम कर लिया. दस राउंड तक चले इस मुकाबले में मुक्केबाज विजेंद्र सिंह ने चीनी प्रतिद्वंद्वी जुल्फिकार मैमेतिअली पर जित हासिल की. वे जुल्फिकार से बेहद नजदीकी मुकाबले में  96-93, 95-94, 95-94 अंकों से जीते.

विजेंद्र ने अपने से 9 साल छोटे मैमेतिअली को हराकर पेशेवर मुक्केबाजी में अपना अजय अभियान जारी रखा. पेशेवर मुक्केबाजी करियर की शुरुवात से यह विजेंद्र की लगातार नौवीं जीत है.  इस फाइट की खास बात यह थी कि प्रोफेशनल मुक्केबाजी में आने के बाद से विजेंदर और जुल्फिकार ने एक भी फाइट नहीं गंवाई थी. ऐसे में दोनों मुक्केबाजो पे जीत का बराबर दबाव था, जिसमे विजेंद्र ने बजी मार ली. इस जीत के साथ ही विजेंद्र ने अपना डब्ल्यूबीओ एशिया पैसिफिक सुपर मिडिलवेट खिताब बरक़रार रखा.

मुकाबले में मिली जीत के बाद विजेंद्र ने मजाकिया अंदाज में कहा कि “चीनी उत्पाद अधिक देर नहीं चलते’’ लेकिन मुकाबला समाप्त होने के बाद अपने प्रतिद्वंद्वी से प्रभावित होते हुए वे कहते हैं कि, ‘‘उन्हें ऐसा लगता था कि चीनी मुक्केबाज बहुत देर तक नहीं टिक पाएंगे लेकिन जुल्फिकार के खेल ने उन्हें हैरान कर दिया.” ओलंपिक में कांस्य पद जीतने वाले विजेंदर ने मुकाबले के बाद कहा, ‘‘मैं यह बेल्ट जुल्फिकार को वापस देना चाहता हूं. मैं सीमा पर शांति की उम्मीद करता हूं और शांति का संदेश सबसे महत्वपूर्ण है. मई यह ख़िताब नहीं कहता क्युकी मई सिमा पर तनाव नहीं चाहता. मई चीन से यही कहना चाहता हु कि हमारी सीमा में मत आओ.

चीन के साथ विवाद की शुरूआत तब हुई जब उसने भूटान के डोकलाम में सड़क बनाने की कोशिश की और भारत ने उसे रोक दिया. डोकलाम वो इलाका है जहां भारत-चीन-और भूटान की सीमाएं मिलती हैं. भारत का कहना है कि तीनों देशों के बीच सहमति के बिना चीन यहां कुछ नहीं कर सकता. इसी विवाद को लेकर दोनों देशो कि सीमाएं आमने सामने खड़ी है.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here