पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातर बढ़ोतरी, बेबस केंद्र सरकार

0
97
पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातर बढ़ोतरी, बेबस केंद्र सरकार
File Picture

दिल्‍ली में शुक्रवार को एक बार फिर पेट्रोल डीजल के दाम में बढ़ोतरी देखने को मिली है. पेट्रोल 28 पैसे और डीजल 22 पैसे महंगा हुआ है. इसी के साथ अब शुक्रवार को दिल्‍ली में पेट्रोल 81.28 लीटर प्रति लीटर और डीजल के दाम 73.30 रुपये प्रति लीटर हो गए. वही मुंबई में पेट्रोल 88.67 रुपये प्रति लीटर और डीजल 77.82 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया. कोलकाता में पेट्रोल 83.14 रु/ली और डीजल 75.15 रु/ली, चेन्नई में पेट्रोल 84.49 रु/ली और डीजल 77.49 रु/ली, भोपाल में पेट्रोल 87.03 रु/ली और डीजल 77.23 रु/ली, लखनऊ में पेट्रोल 81.01 रु/ली और डीजल 73.42 रु/ली की दर से बिक रहा है.

विशेषज्ञों का मानना है कि आने वाले वक्त में भारतीय बाजारों में पेट्रोल और डीजल की कीमतें अभी और भी ज्यादा बढ़ने वाले हैं. रुपये में गिरावट के चलते ही तेल कंपनियां लगातार कीमतों में बदलाव कर रही हैं. पेट्रोल-डीजल के बढ़े दाम और डॉलर के मुकाबले रुपये की घटती कीमत को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को अर्थव्यवस्था पर बैठक बुलाई है. इस बैठक में वित्त मंत्री अरुण जेटली भी शामिल होंगे और भी कुछ कैबिनेट मंत्रियों के शामिल होने की उम्मीद है. आपको बता दे कि केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने बुधवार को कहा कि सरकार पेट्रोल, डीजल के दाम को काबू में रखने को लेकर जो रुख अपना रही है वह उचित है.

गौरतलब है कि पेट्रोल और डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों लगातार रिकॉर्ड तोड़ रही है. केंद्र सरकार ने इससे काबू कर पाने में अपनी असर्थता पहले ही जाहिर कर चुकी है. केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों पर हाथ खड़े कर लिए है. केंद्र सरकार ने कहा था कि कीमतें काबू करना हमारे हाथ में नहीं है. यह एक ऐसी समस्या है जिसका निराकरण हमारे हाथों में नहीं है. केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि हमारे समय में तेल की कीमत में कुछ बढ़ोतरी हुई है. हालाकि आंध्र प्रदेश और राजस्थान कि राज्य सरकारों ने जरूर वैट में कमी करके लोगो को रहत देने कि कोशिस की है.