3 इंच की कील के कारण एचडीएफसी बैंक को मांगनी पड़ी माफ़ी

13
141
3 इंच की कील के कारण एचडीएफसी बैंक को मांगनी पड़ी माफ़ी
3 इंच की कील के कारण एचडीएफसी बैंक को मांगनी पड़ी माफ़ी

3 इंच की कील के कारण एचडीएफसी बैंक को मांगनी पड़ी माफ़ी.  मुंबई के एचडीएफसी बैंक द्वारा लिए गए एक फैसले को लेकर बवाल खड़ा हो गया है. दरअसल एचडीएफसी बैंक मुंबई के फोर्ट इलाके में स्थित अपने शाखा के बाहर अपने गेट के फर्श पर कील लगा दी हैं ताकि रात में कोई वह बैठ या सो ना सके. बैंक द्वारा लगायी गयी कीले तीन इंच तक लंबी और इतनी खतरनाक है कि किसी को भी जख्मी कर सकती है. बैंक ने सुरक्षा का हवाला देते हुए ये कील लगाई थी लेकिन सोशल मीडिया पर भारी विरोध के बाद बैंक ने बयान जारी करते हुए जल्द ही इन कीलो को हटाने कि बात कही है.



एचडीएफसी बैंक ने सुरक्षा का हवाला देते हुए ये कील लगाई थी लेकिन स्थानीय लोगो ने बैंक पर अमानवीय होने के आरोप लगते हुए कहा कि दिन में थोड़ी देर के लिए धूप से राहत पाने के लिए कई फुटपाथ के दुकानदार यहां पर आकर बैठते थे, जो बैंक को नागवार गुजारी जिसके बाद बैंक ने यह अमानवीय कदम उठाया है. पूरे मुद्दे पर बीएमसी ने कहा कि दुकानों के आगे कीलें लगाना कोई गैर कानूनी काम नहीं है, लेकिन बैंक द्वारा इस तरह की कीलें लगवाने के लिए किसी तरह की इजाजत नहीं लेने के कारण बैंक को नोटिस भेजा है.

बैंक के बाहर कीलें लगने की यह तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने पर बैंक की आलोचना शुरू हो गयी. सोशल नेटवर्किंग साइट पर काफी लोगों ने बैंक से कीलें हटाने की मांग की. जिसके बाद बैंक को अपनी सफाई देनी पड़ी जिसमे बैंक ने कहा कि “बैंक के फोर्ट ब्रांच के बाहर लोहे की कील लगाने से लोगों को हो रही असुविधा के लिए हम मांफी मांगते हैं. बैंक में हाल ही में हुए मरम्मत के काम के दौरान किसी तरह का नुकसान ना हो इसलिए कीलें लगवाई गई थी. जल्द ही इन कीलो को हटवा लिया जाएगा.”



13 COMMENTS

  1. I simply want to say I am just very new to blogging and site-building and truly liked you’re page. More than likely I’m likely to bookmark your website . You really come with excellent article content. Thanks a lot for sharing your website.

  2. Does your blog have a contact page? I’m having a tough time locating it but, I’d like to shoot you an email. I’ve got some ideas for your blog you might be interested in hearing. Either way, great website and I look forward to seeing it grow over time.

  3. Together with every little thing that appears to be building within this specific subject material, a significant percentage of perspectives are somewhat stimulating. On the other hand, I beg your pardon, but I can not subscribe to your whole strategy, all be it exhilarating none the less. It looks to everybody that your opinions are not totally justified and in reality you are yourself not entirely certain of the point. In any event I did enjoy examining it.

  4. I am thinking about building a local news website that will, for the most part, be a collection of local news stories published by newspapers and other sources. Is it legal to do this? I would, of course, give all credit to the authors. I’m just wondering what the legality of this would be? Thanks for the help!.

  5. I am looking for a great blogging website, but there are just too many! I am actually looking for a website that’s free and there can be many bloggers on one site. For example, I created a blog and people who I choose (friends and family) can easily start blogging on the site. If I could easily update it from my iPod touch that would be nice. And if I could personalize easily. (Have my own logo and background) Note this is not mandatory! Thank You’s ahead!.

  6. Hi, i have a free wordpress blog. I have added the widgets that come in the widget section. But how do i add widgets that are from third parties such as clustrmaps? If free wordpress blogs don’t allow that, which free blog service allows that ? .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here