गुजरात: उत्तर भारतीय लोगों पर हमले में 342 गिरफ्तार, पलायन जारी

0
172
गुजरात: उत्तर भारतीय लोगों पर हमले में 342 गिरफ्तार,पलायन जारी

गुजरात के साबरकांठा जिले में 14 माह की बच्ची से बलात्कार के बाद से गैर-गुजरातियों को निशाना बनाया जा रहा है साथ ही सोशल मीडिया पर घृणा संदेश फैलाये गये जिसके बाद उत्तर भारतीयों पर हमले शुरू हो गए. गुजरात के विभिन्न भागों से पुलिस ने अब तक इस मामले में 342 लोगों को गिरफ्तार किया है. गांधीनगर, मेहसाणा, साबरकांठा, पाटन और अहमदाबाद में हमले हुए. इस घटना के बाद राज्य के कई हिस्सों में गैर-गुजरातियों, खासतौर पर उत्तर प्रदेश और बिहार के रहने वाले लोगों को निशाना बनाया जा रहा है. मामले को राजनीतिक रंग देने का काम कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर ने बखूबी किया और आज गुजरात बंद भी बुलाया है.

पुलिस महानिदेशक शिवानंद झा ने पत्रकारों को बताया,‘‘मुख्य रूप से छह जिले (हिंसा से) प्रभावित हुए है. मेहसाणा और साबरकांठा सबसे अधिक प्रभावित हुए है. इन जिलों में, 42 मामलें दर्ज किये गये है और अब तक 342 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है. जांच के दौरान आरोपियों के नाम सामने आने के बाद और लोगों को गिरफ्तार किया जायेगा.’’ उन्होंने बताया कि प्रभावित क्षेत्रों में राज्य रिजर्व पुलिस (सीआरपी) की 17 कंपनियों को तैनात किया गया है. उन्होंने कहा,‘‘गैर-गुजराती के निवास क्षेत्रों और उन कारखानों में जहां वे काम करते हैं, वहां सुरक्षा बढ़ा दी गई है, पुलिस ने इन इलाकों में गश्त भी बढ़ा दी है.’’

गुजरात में मचे बवाल को लेकर कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर ने एक दिन का सद्भावना अनशन करने का ऐलान किया है. साबरकांठा में बच्ची से बलात्कार की घटना के बाद बिहार और यूपी के लोगों पर हमले को लेकर कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर ने सफाई दी है कि इसमें ठाकोर सेना के किसी भी सदस्य का हाथ नहीं है. पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने भी इस मसले पर कहा कि अपराधी को कठोर सजा मिले, इसके लिए पूरा देश उस पीड़ित परिवार के साथ खड़ा हैं. अपराधी का कोई क्षेत्र नहीं, वह केवल अपराधी होता हैं. अपराधी को क्षेत्र विशेष से नही पहचाना जा सकता. क्षेत्रवाद जैसे राष्ट्र विरोधी विचार से देश को विखंडित नही होने देंगे. भारत कश्मीर से कन्याकुमारी तक एक हैं.