गुजरात हाई कोर्ट में पूर्व IPS संजीव भट्ट की जमानत याचिका खारिज

0
51
पूर्व IPS संजीव भट्ट की जमानत याचिका खारिज
File picture

गुजरात हाई कोर्ट ने नशीले पदार्थों की जब्ती के दो दशक पुराने मामले में पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट की ओर से दाखिल जमानत याचिका बृहस्पतिवार को खारिज कर दी। संजीव भट्ट मादक द्रव्य जब्ती के 23 साल पुराने मामले में पिछले साल सितंबर से जेल में हैं। पिछले साल दिसंबर में बनासकांठा जिला में सत्र अदालत ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी थी। इसके बाद उन्होंने उच्च न्यायालय का रूख किया था। भट्ट को 2015 में सेवा से बर्खास्त कर दिया गया था। वह 1996 में बनासकांठा जिले में पुलिस अधीक्षक थे। इसके अलावा भट्ट को कई अन्य मामलों में भी आरोपी बनाया गया है।

दरअसल बृहस्पतिवार को गुजरात हाई कोर्ट में पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट की ओर से दाखिल जमानत याचिका पर सुनवाई के बाद न्यायमूर्ति सोनिया गोखानी ने भट्ट को राहत देने से मना कर दिया। आपको बता दे कि गुजरात के पूर्व आईपीएस संजीव भट्ट की पत्नी ने पिछले साल गिरफ्तारी के बाद सवाल खड़े किए थे। उन्होंने कहा था कि पुलिस द्वारा भट्ट को हिरासत में लेने के बाद से उनकी कोई खबर नहीं है। गौरतलब है कि पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट 23 साल पुराने मामले में बीते साल सितंबर से जेल में हैं। सत्र अदालत के बाद अब उच्च न्यायालय ने भी उन्हें जमानत देने से इंकार कर दिया है।