बीजेपी सांसद सावित्रीबाई फुले ने पार्टी छोड़ी, पार्टी पर लगाया गंभीर आरोप

0
37
दलित सांसद सावित्री बाई फुले ने छोड़ी बीजेपी
File Picture

विवादित बयानों से हमेशा चर्चा में रहने वाली बीजेपी सांसद सावित्री बाई फुले ने बीजेपी से इस्‍तीफा दे दिया है. सावित्री बाई फुले बहराइच से सांसद थीं. उन्‍होंने बीजेपी पर ही निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी समाज में बंटवारे की कोशिश कर रही है. सावित्री बाई फुले बीते काफी दिनों से पार्टी से नाराज़ चल रही थी और पार्टी लाइन से हटकर बयानबाजी कर रही थी, जिसके बाद आज उन्होंने अचानक पार्टी छोड़ने का एलान किया. उन्‍होंने कहा कि दलित सांसद होने के कारण मेरी बातों को और मुझे अनसुना किया गया है. आज में बीजेपी से इस्तीफा दे रही हूं. सावित्री बाई फुले ने कहा कि संविधान को समाप्त करने की साजिश की जा रही है. दलित और पिछड़ा का आरक्षण बड़ी बारीकी से समाप्त किया जा रहा है.

अपने बयानों को लेकर हमेशा सुर्खियों में बानी रही वाली बजे संसद सावित्री बाई फुले ने कुछ समय पहले ही हनुमान जी के लिए विवादित बयान देते हुए कहा था कि हनुमानजी दलित और मनुवादियों के गुलाम थे. उन्होंने कहा कि अगर लोग कहते है कि भगवान राम है और उनका बेड़ा पार कराने का काम हनुमानजी ने किया था, उनमें अगर शक्ति थी तो जिन लोगों ने उनका बेड़ा पार कराने का काम किया, उन्हें बंदर क्यों बना दिया? फुले का यह बयान योगी आदित्यनाथ द्धारा हनुमान जी को दलित बताने के बाद आया था. बीते दिनों योगी आदित्यनाथ ने राजस्थान के अलवर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए हनुमान को दलित और वनवासी बताया था. जिसके बाद से इस विवाद ने तूल पकड़ लिया.