सीएम योगी की लगायी जनता की दरबार से निराश होकर रोता हुआ निकला फरियादी

0
46
सीएम योगी की जनता की दरबार से रोता निकला फरियादी
सीएम योगी की जनता की दरबार से रोता निकला फरियादी

सीएम योगी की जनता की दरबार से रोता निकला फरियादी. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की लगायी जनता की दरबार से आज एक फरियादी निराश होकर रोता दिखा. लखनऊ के रहने वाले आयुष सिंघल गोरखपुर में योगी के दरबार में अपनी अर्जी लेकर आये थे. आयुष सिंघल को रोता देख जब उनसे सवाल किया गया तब उन्होंने मुख्यमंत्री योगी पर उनकी बात न सुनने का आरोप लगते हुए कहा ” मै महाराजजी से मिलने गया, लेकिन महाराजजी ने मेरी फाइल नाचकर फेक दिया मुझे धक्का मार कर बाहर भगा दिए और कहे कि आवारा कही का जिंदगी में तुम्हारी कभी कारवाही नहीं होगी.”




आयुष सिंघल का आरोप है कि उन्होंने पांच साल पहले 2012 में उन्होंने लखनऊ के चिनहट के फफनामऊ में 22.5 बीघा जमीन खरीदी थी, जिसपर पूर्व बाहुबली मंत्री अमरमणि त्रिपाठी के विधायक बेटे अमनमणि त्रिपाठी ने अवैध कब्जा कर लिया है. आयुष ने इससे पहले भी सीएम से जनता दरबार में अपनी फरियाद लेकर मिल चुके हैंसीएम ने लखनऊ एसएसपी को जांच के आदेश दिए थे, लेकिन एक महीने बाद भी केस में उचित कार्रवाई नहीं होने पर वह फिर सीएम से मिलने पहुंचे थे. लेकिन सीएम योगी ने उनकी पूरी बात सुने बिना ही भड़क गए और आयुष को बाहर भगा दिए.




योगी की जनता के दरबार से निराश होकर वह खड़ा रोता हुआ आयुष मीडिया के पूछे जाने पर एक ही सवाल कर रहा था कि “बताइये मेरी क्या गलती है? जान से मारने की धमकी अमनमणि देता है, घर पर पत्थर अमनमणि फेकवाता है. महाराजी को वोट वो देता है, लेकिन हमारी क्या गलती ? हम तो व्यापारी आदमी है ?” गौर देने वाली बात यह है कि आयुष सिंघल अपनी फरियाद लेकर पहले भी दो बार सीएम योगी से मिल चुके है लेकिन उनके फरियाद पर आजतक कोई कारवाही नहीं हुई है, जिसके कारण आज फिर आयुष सीएम योगी से मिलने आया लेकिन इसबार भी उसके हाथ निराशा ही लगी.



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here