गुजरात: हमलों और पलायन से कारोबार पर पड़ रहा असर – चेंबर ऑफ कॉमर्स

0
102
गुजरात:हमलों पलायन से कारोबार पर पड़ रहा असर-चेंबर ऑफ कॉमर्स
File Picture

साबरकांठा में बच्ची से बलात्कार की घटना के बाद बिहार और यूपी के लोगों पर हमले को लेकर कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर ने सफाई दी है कि इसमें ठाकोर सेना के किसी भी सदस्य का हाथ नहीं है. ठाकोर ने एलान किया है कि वो गुरुवार को एक दिन का सद्भावना अनशन करेंगे. बच्ची से रेप के बाद उत्तर भारतीयों पर हमले हो रहे हैं. इस वारदात के डर से बड़ी तादाद में उत्तर भारतीय कामगार गुजरात छोड़कर घर लौटने लगे हैं. बिहार, यूपी और एमपी आने वाली ट्रेन और बसें भरी हुई हैं. सालो से काम कर रहे लोग भी गुजरात छोड़ रहे हैं. हालात का असर अब गुजरात के कारोबार पर भी पड़ने लगा है.

गुजरात चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज़ ने मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को चिट्ठी लिखी है. चेंबर ऑफ कॉमर्स ने मुख्यमंत्री से कहा है कि परप्रांतीय मजदूरों पर हमलों और पलायन से उत्पादन और व्यापार पर असर पड़ रहा है. फ़िलहाल आलम यह है कि हैं कामगारों के न आने से गुजरात के कई जिलों में इंडस्ट्रीज और फ़ैक्टरिया बंद होने लगी हैं. साबरकांठा, गांधीनगर, अहमदाबाद, पाटन और मेहसाणा समेत 6 जिलों में उत्तर भारतीयों पर हिंसा के 42 मामले दर्ज किए गए हैं. उत्तर भारतीयों का कहना है कि उनके घरों और फैक्ट्रियों में हिंदीभाषियों को निशाना बनाया जा रहा है. मकानमालिक घर छोड़ने को कह रहे हैं.

त्तर भारतीयों पर हमले को लेकर जमकर राजनीति हो रही है. बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर की ‘ठाकोर सेना’ के लोगों को इन हमलों में गिरफ्तार किया गया है. इसके जवाब में कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर ने जवाब दिया और कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है. हमने कभी हिंसा की वकालत नहीं की. सभी भारतीय गुजरात में सुरक्षित हैं. इन हमलों की पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने भी निंदा की है और कहा है कि एक व्यक्ति के अपराध के कारण पूरे प्रदेश के दोषी नहीं ठहरा सकते. फिलहाल इस मामले को लेकर 42 मामलें दर्ज किये गये है और अब तक 342 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है.