#MeTo कैंपेन पर बीजेपी सांसद उदित राज ने उठाए सवाल

0
39
#MeTo कैंपेन पर बीजेपी सांसद उदित राज ने उठाए सवाल
File Picture

बीजेपी सांसद उदित राज ने मीटू कैंपेन के अलग पहलू पर सवाल उठाए हैं. उदित राज का कहना है कि मीटू कैंपेन जरूरी है लेकिन अगर 10 साल बाद ऐसे आरोप लगाए जाते हैं तो इसका क्या मतलब है? माना जा रहा है कि उदित राज ने केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर के ऊपर लगे आरोपों के बचाव में ट्वीट किया है. उदित राज ने ट्वीट किया, ”#MeTo कैंपेन जरूरी है लेकिन किसी व्यक्ति पर 10 साल बाद यौन शोषण का आरोप लगाने का क्या मतलब है ? इतने सालों बाद ऐसे मामले की सत्यता की जांच कैसे हो सकेगा? जिस व्यक्ति पर झूठा आरोप लगा दिया जाएगा उसकी छवि का कितना बड़ा नुकसान होगा ये सोचने वाली बात है. गलत प्रथा की शुरुआत है.”

सांसद उदित राज ने भी इस कैंपेन को लेकर एएनआई से बात करते हुए कहा, ‘कुछ महिलाएं जानबूझकर पुरुषों पर ऐसे आरोप लगाती हैं. उसके बाद उनसे 2-4 लाख रुपये ऐंठकर दूसरे पुरुषों को इसके लिए चुनती हैं. उन्होंने कहा कि मैं स्वीकार करता हूं कि ये पुरुष का प्राकृतिक स्वभाव है, लेकिन ये सवाल है कि क्या इसमें महिलाएं निपुण नहीं हैं? क्या वो इसका दुरुपयोग नहीं कर रहीं हैं? उन्होंने कहा महिलाओं के ऐसा करने से पुरुषों की जिंदगी बर्बाद हो रही है #MeTo.’ एक तरफ जहां उदित राज कह रहे हैं कि 10 साल बाद ऐसे आरोपों का क्या मतलब है, वहीं दूसरी ओर केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी का कहना है कि महिलाएं कभी भी अपनी बात बता सकती हैं.