बीजेपी सीपी ठाकुर और शत्रुघ्न सिन्हा को सीरियसली नहीं लेती है: जेडीयू

0
36
मुजफ्फरपुर बालिकागृह कांड मंत्री मंजू वर्मा बचाव उतरे सुशील मोदी
समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा

बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर हाऊस में 34 लड़कियों से रेप मामले में आरोप प्रत्यारोप की राजनीती शुरू हो चुकी है. जेडीयू प्रवक्ता संजय सिंह ने एक बड़ा बयान देते हुए कहा कि “बीजेपी ने उनकी उम्र को देखते हुए सीपी ठाकुर को आराम करने की सलाह दी है. बीजेपी इनको और शत्रुघ्न सिन्हा को सीरियसली नहीं लेती है. मंजू वर्मा आखिर क्यों इस्तीफा दें. ना उनपर और ना ही उनके पति पर कोई एफआईआर है. एक एक्यूज़ कि पत्नी के कहने भर से कोई आरोपी नहीं हो जाता.”

आपको बता दे कि जिन मंत्री मंजू वर्मा कि बात हो रही है वो बीजेपी-जेडीयू गठबंधन सरकार में समाज कल्याण मंत्री है जिनके पति चंद्रशेखर पर आरोप है कि वो रात में बालिका गृह जाते थे. बिहार बीजेपी के बड़े नेता सीपी ठाकुर ने नीतीश सरकार में मंत्री मंजू वर्मा को हटाने की मांग करते हुए कहा ”मुझे नहीं पता कि उनके पति इसमें शामिल हैं या नहीं, मैं सिर्फ इतना कह रहा हूं जब तक सीबीआई की जांच हो रही है उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए. एक बार सीबीआई से क्लीन चिट मिलने के बाद वो दोबारा मंत्री बन सकती हैं.”

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने भी आरोपी पति की पत्नी मंत्री मंजू वर्मा का समर्थनकरते हुए ट्वीट कर कहा ”बीजेपी पूरी तरह मंजू वर्मा के समर्थन में है, उनके खिलाफ कोई आरोप नहीं है. जिन्हें सीबीआई ने रेलवे टेंडर घोटाले में समन किया है, जिनकी दो दर्जन बेनामी संपत्ति ईडी और आईटी ने जब्त की हैं, हमें नैतिकता पर लेक्चर दे रहे हैं.” वहीं दूसरी ओर जेडीयू ने तो तेजस्वी यादव से ही इस्तीफे की मांग की है. जेडीयू नेताओं का कहना है कि तेजस्वी को रेलवे टेंडर घोटाले में उनके ऊपर बहुत से आरोप हैं.