कुत्ते की मौत पर रोया पूरा गांव, पूरे रीति-रिवाज के साथ हुई अंतिम बिदाई

0
90
बिहार:नवादा रोह प्रखंड बारापाण्डेयागांवमें कुत्ते कीमौत पर रोया पूरा गांव

बिहार के नवादा में एक कुत्ते की शवयात्रा निकाली गई जिसमे पूरा मोहल्ला शामिल हुआ. रोह प्रखंड के बारापाण्डेया गांव में कुत्ते की शवयात्रा बैंड-बाजे के साथ निकाली गई और कुत्ते की अंतिम विदाई में लोगों की आंखों से आंसू निकले. लोग बताते हैं कि गोलू के रहते रात में किसी अजनबी को गली में घुसने की हिम्मत नहीं थी लिहाजा मुहल्लेवासी चैन की नींद सोते थे. यही कारण है कि कुत्ता गोलू की मौत का दुख सभी को हुआ और लोगों ने विधिवत उसका अंतिम संस्कार करने का सोचा. परम्परा के मुताबिक कुत्ते के शव को अर्थी पर रखकर बैंड-बाजे के साथ ठीक वैसे ही शवयात्रा निकाली गई, जैसे किसी इंसान की शवयात्रा निकलती है.

बताया जा रहा है कि कुत्ता गोलू अपने मालिक का दुलारा और मोहल्ले वासियों का प्यारा था. अपनी वफादारी और चौकसी के कारण वो लोगों का चहेता बन चुका था. एक स्ट्रीट डॉग की अलग सूझबूझ को देख लोग हैरान रहते थे. ग्रामीणों का मानना है कि कुत्ते इंसान के प्रति वफादार होते हैं लिहाजा हमें भी उसके प्रति संवेदनशील होना चाहिये. ग्रामीणों का कहना है कि पालतू जानवर अपने जीवन में इंसान को लाभ पहुंचते हैं लिहाजा हमारा कर्तव्य है कि उन पालतू जानवरों की देखभाल अच्छे तरीके से करें और उनकी मौत के बाद उनका अंतिम संस्कार भी करें. कुत्ते का अंतिम विदाई पूरे रीति-रिवाज एवं सम्मान के साथ किया गया.