मायावती से मुलाकात के बाद अब अखिलेश से मिलेंगे तेजस्वी

0
113
मायावती से मुलाकात के बाद अब अखिलेश से मिलेंगे तेजस्वी

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने रविवार को देर शाम बसपा अध्यक्ष मायावती से मुलाकात की और सोमवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से मिले. इस दौरान उन्होंने मायावती के पैर छूकर ‘आशीर्वाद’ लिया. इस मुलाकात के पीछे राजनीतिक मकसद भी छिपा हुआ है. सपा-बसपा गठबंधन में आरजेडी हिस्सा बनकर यूपी में एंट्री करना चाहती है तो अखिलेश और मायावती की नजर बिहार पर है. इसके अलावा तेजस्वी नेसपा-बसपा गठबंधन पर अपनी खुशी जताई और कहा कि यूपी में बीजेपी अब एक भी सीट नहीं जीत पाएगी. बता दें, इस मुलाकात से पहले तेजस्वी ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि हम मायावती और अखिलेश यादव से एक शिष्टाचार मुलाकात करने आये हैं. सबसे छोटे हैं हम और सबका आशीर्वाद लेने आये हैं.

माना जा रहा है कि दोनों नेताओं से तेजस्वी की मुलाकात महज औपचारिक नहीं बल्कि इसके पीछे तीनों राजनीतिक दलों का सियासी मकसद भी छिपा हुआ है. सपा-बसपा गठबंधन के जरिए आरजेडी यूपी में एंट्री करना चाहती है तो वहीं अखिलेश और मायावती की निगाहें भी बिहार पर है. मायावती से मुलाकात के बाद आरजेडी नेता तेजस्वी ने कहा, ‘अब यूपी और बिहार से बीजेपी एक भी सीट नहीं जीत पाएगी. मायावती से हमें मार्गदर्शन मिले, हम यही चाहते हैं. इनसे हमें सीखने का मौका मिलता है. सपा-बसपा गठबंधन से लोगों में खुशी है. आज ऐसा माहौल है जहां वे बाबा साहेब के संविधान को मिटाना चाहते हैं और ‘नागपुर के कानूनों’ को लागू करना चाहते हैं. लोग मायावती जी और अखिलेश जी द्वारा उठाए गए कदम का स्वागत करते हैं.’