चीन ब्रांड स्मार्टफोन उपभोक्ताओं के लिए बुरी खबर

0
28
21 Handset companies in india has to give information about smartphone data security
An Indian man walks past a banner advertising China Mobile phones in Hyderabad on January 5, 2012. Indian customers seek cheap products which are only available in China. Bilateral trade between the two Asian economic giants has grown from just 2.33 billion USD in 2000-01 to 60 billion USD in 2010 and is expected to touch 100 billion USD by 2015. AFP PHOTO / Noah SEELAM (Photo credit should read NOAH SEELAM/AFP/Getty Images)

चीन ब्रांड स्मार्टफोन उपभोक्ताओं के लिए बुरी खबर . भारत में मोबाइल कनेक्शन की गिनती 100 करोड़ को भी पार कर चुकी है जिसमें 35-40 फीसदी स्मार्टफोन है. देश में औसतन 20-22 करोड़ मोबाइल हैंडसेट बिकते हैं जिनकी अनुमानित कीमत करीब 90 हजार करोड़ रुपये हैं. भारतीय बाजारों में बिकने वाले हर दो मोबाइल हैंडसेट में एक चीनी ब्रांड होता है. ऐसे में सूचना तकनीक मंत्रालय को चीन से तकनीकी खतरे की आशंका है कि स्मार्टफोन में उपलब्ध ग्राहकों की व्यक्तिगत जानकारी चोरी की जा रही है और इसे किसी तीसरे देश के सर्वर पर भेजा जा रहा है. आशंका है कि ग्राहक के हैंडसेट से कॉटैंक्ट लिस्ट और यहां तक के टेक्स्ट मैसेज भी तीसरे देश में स्थित सर्वर पर भेज दिया जा रहा है.

इस तरह की कई खबरें आने के बाद सूचना तकनीक मंत्रालय ने सख्ती का कदम उठाने का फैसला किया और 21 कंपनियो को नोटिस जारी किया. इन कंपनियों में सैमसंग और माइक्रोसॉफ्ट के अलावा विवो, ओप्पो, श्योमी जैसे नाम शामिल हैं. सूचना तकनीक मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है, “हम चाहते हैं कि हर हिंदुस्तानी का डाटा सुरक्षित रहे.” इसी को ध्यान में रखते हुए कंपनियों को अपने मोबाइल हैंडसेट की सुरक्षा व्यवस्था की पूरी जानकारी देनी होगी. 28 अगस्त के बाद इन जानकारियों की पड़ताल की जाएगी और किसी तरह की कमी रहने की सुरत में कार्रवाई की जा सकती है.

सरकार का ये कदम ऐसे समय में आय़ा है जब चीन के साथ लगातार तनाव बढ़ रहा है. लेकिन सूचना तकनीक मंत्रालय के अधिकारी ने इस बात से साफ़ इंकार किया है कि उनके निशाने पर चीनी ब्रांड है. उनका कहा है कि हम चाहते हैं कि हर हिंदुस्तानी का डाटा सुरक्षित रहे. भारत में चीन से सस्ता आयात लगातार बढ़ रहा है लेकिन कई मामलो में इनमें सुरक्षा व्यवस्था की खामी पायी गयी है. ऐसे में चीन से तकनीकी खतरे की आशंका के मद्देनजर सरकार ने भारतीय बाजारो में स्मार्टफोन मुहैया कराने वाली 21 कंपनियों से मोबाइल हैंडसेट में सुरक्षा इंतजामों का पूरा ब्यौरा 28 अगस्त तक मांगा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here